ॐ श्री गुरुभ्यो नमः|| गुरु ब्रह्मा गुरु विष्णु गुरु देवो महेश्वर: | गुरु साक्षात् परब्रह्मा तस्मै श्री गुरवे नमः ||

HTML codes

20 August 2016

राजा सुदास


               राजा सुदास :-----
.
सम्राट भरत के समय में राजा हस्ति हुए जिन्होंने अपनी
राजधानी हस्तिनापुर बनाई। राजा हस्ति के पुत्र अजमीढ़ को
पंचाल का राजा कहा गया है। राजा अजमीढ़ के वंशज राजा
संवरण जब हस्तिनापुर के राजा थे तो पंचाल में उनके समकालीन राजा सुदास का शासन था।
राजा सुदास का संवरण से युद्ध हुआ जिसे कुछ विद्वान ऋग्वेद में वर्णित 'दाशराज्य युद्ध' से जानते हैं। राजा सुदास के समय पंचाल राज्य का विस्तार हुआ। राजा सुदास के बाद संवरण के पुत्र कुरु ने शक्ति बढ़ाकर पंचाल राज्य को अपने अधीन कर लिया तभी यह राज्य संयुक्त रूप से 'कुरु-पंचाल' कहलाया, परंतु कुछ समय बाद ही पंचाल पुन: स्वतंत्र हो गया।
राजा कुरु के नाम पर ही सरस्वती नदी के निकट का राज्य
कुरुक्षेत्र कहा गया। माना जाता है कि पंचाल राजा सुदास के
समय में भीम सात्वत यादव का बेटा अंधक भी राजा था। इस
अंधक के बारे में पता चलता है कि शूरसेन राज्य के समकालीन राज्य का स्वामी था। दसराज्य युद्ध में यह भी सुदास से हार गया था।

No comments:

Post a Comment